किसानाें काे हो रहा प्रति क्विंटल 500 से 700 रुपए का ज्यादा मुनाफा

हिसार !

 सरकार की घाेषणा काे छोड़ कर किसानाें ने इस बार सरसाें सीधे व्यापारियाें और आढ़तियाें काे बेची है। इसका कारण प्राइवेट बिक्री में किसानाें काे प्रति क्विंटल 500 से 700 रुपए का ज्यादा मुनाफा बताया जा रहा है।

अनाज मंडी में 10 मार्च से सरसाें की खरीद का काम चल रहा है। सरकार ने सरसाें के लिए 4650 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से रेट तय किए हैं। वहीं तेल मिल मालिक और मंडी आढ़तियाें ने 500-700रुपए  ज्यादा में किसानाें से सरसाें खरीदने का ऑफर किया।

तो किसान बिना देरी किये सरसों  स्थानीय व्यापारियाें काे बेचनी शुरू कर दी। यह सिलसिला अभी तक बरकरार है। आज मंडी में आढ़ती और तेल मिल मालिक 5100 रुपए से लेकर 5300 रुपए प्रति क्विंटल का भाव दे रहे हैं।

sarso
                             हिसार अनाज मंडी में सरसों की ढेरी।

सरसाें की सरकारी खरीद नैफेड द्वारा की जाती है। वर्तमान की बात करें ताे इस समय मंडी में 10 हजार बाेरियाें के ढेर लगे हैं। तेल मालिक भी सरसाें की खरीद में लगे हैं। आढ़तियाें ने भविष्य काे देखते हुए सरसाें का संग्रह किया हुआ है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें