सिमरनजीत, निखत जरीन, ज्योति, जमुना बोरो पहुंची राष्ट्रीय मुक्केबाजी प्रतियोगिता के सेमिफाइनल में

0
11
0 0
Read Time:12 Minute, 48 Second

सिमरनजीत, निखत जरीन, ज्योति, जमुना बोरो पहुंची राष्ट्रीय मुक्केबाजी प्रतियोगिता के सेमिफाइनल में

ओलम्पियन सिमरनजीत, अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी निखत जरीन, ज्योति व जमुना बोरो अपने-अपने भार वर्ग में 5वीं एलीट राष्ट्रीय महिला मुक्केबाजी प्रतियोगिता के सेमीफाइनल में पहुंच गयी हैं और उनका पदक पक्का हो गया है। सेंट जोसेफ इंटरनेशनल स्कूल हिसार में चल रही प्रतियोगिता के पांचवें दिन सोमवार को इन मुक्केबाजों ने अपनी-अपनी प्रतिद्वंद्वी को सीधे मुकाबलों में 5-0 से हरा दिया। पांचवें दिन चल रहे क्वार्टर फाइनल्स में आरएसी यानि कि रैफरी द्वारा मैच रोककर बीच में ही परिणाम की घोषणा करने वाले फैसले बहुत कम हुए। क्योंकि क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली सभी खिलाड़ी अपने-अपने भार वर्ग में काफी अच्छा खेली थी। अब सभी बॉक्सर्स का छठे दिन मंगलवार को सेमी फाइनल्स में मुकाबला होगा। तेलंगाना की टीम से खेल रही निखत जरीन ने 50-52 किलोग्राम भार वर्ग में आसाम की मंजू बासूमैत्री को 5-0 से हराया। 52-54 भार वर्ग में आसाम की जमुना बोरो ने उत्तराखंड की गायत्री को 5-0 से हराकर सेमीफाइन में जगह बनायी। रेलवे की ज्योति ने 50-52 किलोग्राम भार वर्ग आल इंडिया पुलिस की वनाललदौती को तीन सेट तक चले मुकाबले के बाद 5-0 से हराया। ओल्पिंक खेल चुकी पंजाब की सिमरनजीत कौर ने आसाम की पविलाओ बासूमथी को 57-60 किलोग्राम भार वर्ग में 4-1 से हराया।
बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया व हरियाणा मुक्केबाजी संघ के द्वारा आयोजित और स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया व इंटरनेशनल बॉक्सिंग एसोसिएशन के सहयोग से चल रही इस राष्ट्रीय प्रतियोगिता के पांचवें दिन राजस्थान के प्रसिद्ध व्यवसायी राकेश पूनिया मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि सरकार के साथ-साथ उद्योगिक घरानों और व्यवसायियों को भी आगे आकर खेलों को बढ़ावा देना चाहिए। खेल युवाओं को भटकने से रोककर उनके जीवन को सही दिशा में ले जा सकते हैं। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर सीआईआरबी हिसार के निदेशक डा. टीके दत्ता, डिस्ट्रिक्ट वाटर टेस्टिंग लैब के डिस्ट्रिक्ट साइंटिस्ट कम क्वालिटी एंड टेक्रिकल मैनेजर राजीव कुमार सिहाग व एनआरसीई के निदेशक डा. यशपाल शर्मा उपस्थित रहे। उन्होंने यहां खेल रही महिला मुक्कबाजों का हौसला बढ़ाया और उनके खेल के लिए शुभकानाएं दी। प्रतियोगिता में पांचवें दिन एशियन व कॉमनवेल्थ गेम्स मेडलिस्ट व महाराजा रणजीत सिंह अवार्डी एआईजी गुरमीत सिंह, एशियन चैम्पियन व महाराजा रणजीत सिंह अवार्डी पंजाब के एसएसपी हरपाल सिंह, सीनियर कॉमनवेल्थ व यूथ वल्र्ड चैम्पियन सुनील सिवाच, भीम अवार्डी दिलबाग सिंह, अर्जुन अवार्डी, दो बार के एशियन चैम्पियन व टीम इंडिया के सिलेक्टर राजकुमार सांगवान, अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी राजेन्द्र सिंह, जूनियर वल्र्ड चैम्पियनशिप मेडलिस्ट प्रवीन कुमार भी पहुंचे और खिलाडिय़ों का हौसला बढ़ाया।
प्रतियोगिता के आर्गनाइजिंग प्रेसिटेंड, पूर्व अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर व सेंट जोसेफ इंटरनेशनल स्कूल के निदेशक अनिल मान ने बताया कि 27 तारीख को होने वाले फाइनल मुकाबलों के अगले दिन देश के नेशनल बॉक्सिंग कैम्प में सिलेक्शन के ट्रायल भी हिसार में ही होंगे।
पंाचवें दिन के परिणामों के हिसाब से रेलवे की मंजू रानी ने पंजाब की मिनाक्षी को (45-48) भार वर्ग में 5-0 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनायी। इसी भार वर्ग में तमिलनाडू की एस. कलईवानी ने हिमाचल प्रदेश की ज्योतिका बिष्ठ को 5-0 से हराया। तीसरे सेमीफाइनलिस्ट के तौर पर दिल्ली की लक्ष्मी ने अपने मैच में जीत हासिल करके अपना स्थान पक्का किया। लक्ष्मी ने मनीपुर की आशालता को 5-0 से हराया। (45-48) भार वर्ग में चौथी सेमीफाइनलिस्ट के तौर पर हरियाणा की नीतू ने आसाम की अमिशा कुमारी भारती को 4-1 से हराकर जगह पक्की की। अब इन चारों सेमीफाइनलिस्ट के बीच फाइनल में पहुंचने के लिए मुकाबला होगा। इसी तरह (48-50) भार वर्ग में राजस्थान की पूजा बिश्नोई, रेलवे की अनामिका, झारखंड की नेहा तांतू व पंजाब की कोमल ने अपनी जगह पक्की की। राजस्थान की पूजा ने दिल्ली की हेमलता को 5-0 से क्वार्टर फाइनल से बाहर किया। रेलवे की अनामिका ने हरियाणा की संजीता की चुनौती 5-0 से खत्म की। झारखंड की नेहा तांतू ने भी 5-0 से अपनी प्रतिद्वंद्वी रामया को हराया। चौथे क्वार्टर फाइनल में पंजाब की कोमल और महाराष्ट्र की अंजलि गुप्ता में मुकाबला हुआ जिसे कोमल ने जीत लिया।
बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट राजेश भंडारी ने कहा कि हिसार में अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर वह सेंट जोसेफ इंटरनेशनल स्कूल के निदेशक अनिल मान ने इच्छा जाहिर की थी कि राष्ट्रीय प्रतियोगिता हिसार में होनी चाहिए। इसी बात को ध्यान में रखते हुए ये प्रतियोगिता हिसार में करवाई गई है और हिसार में इसके लिए काफी अच्छा इंतजाम किया गया है। उन्होंने बताया कि हरियाणा मुक्केबाजी में पूरे देश में नंबर वन है और इसके अलावा दूसरी स्टेट्स भी काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं। प्रोफेशन बॉक्सिंग को लेकर उन्होंने कहा की बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की तरफ से प्रोफेशनल बॉक्सिंग से बढ़ावा देने के लिए पहली बॉक्सिंग लीग करवाई जा चुकी है और जल्द ही दूसरी लीग की भी घोषणा कर दी जाएगी। प्रतियोगिता के ऑर्गेनाइजिंग प्रेसिडेंट और सेंट जोसेफ इंटरनेशनल स्कूल के निदेशक अनिल मान ने कहा कि हिसार में चल रही राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता के दौरान खिलाड़ियों का बहुत अच्छा रुझान देखने को मिल रहा है। बॉक्सिंग को लेकर बहुत अच्छा माहौल हिसार के अंदर बना हुआ है। नए सीखने वाले खिलाड़ी और खेल का शौक रखने वाले युवा प्रतियोगिता में लगातार आ रहे हैं और खिलाड़ियों को देखकर उत्साह से भरे हुए हैं।
प्रतियोगिता के चौथे दिन रविवार को अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता व खेल रत्न अवार्डी विजेंद्र सिंह अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर में अर्जुन अवॉर्डी जय भगवान और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने वाले अखिल बॉक्सर भी प्रतियोगिता के खिलाड़ियों की हौसला अफजाई करने के लिए हिसार पहुंचे। यहां उन्होंने खिलाड़ियों से मुलाकात की और उनका हौसला बढ़ाया। इस दौरान विजेंद्र सिंह ने कहा किसी भी खेल की तैयारी के लिए मैच खेलना बहुत जरूरी है। खिलाड़ी जितनी फाइट करेंगे वह उतना अच्छा खेल पाएंगे। देश में बॉक्सिंग की स्थिति को लेकर उन्होंने कहा कि देश के खिलाड़ी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं बहुत अच्छा खेल रहे हैं और ऐसे ही और जी जान से तैयारियां करते रहे ओलंपिक में पदकों की संख्या बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने यह भी कहा देश में प्रोफेशनल बॉक्सिंग का भविष्य है। अर्जुन अवॉर्डी जय भगवान ने कहा कि हिसार में इतने बड़े स्तर पर प्रतियोगिता का आयोजन देखकर काफी खुशी महसूस होती है इस प्रतियोगिता में बहुत से अंतरराष्ट्रीय राष्ट्रीय खिलाड़ी भाग ले रहे हैं हिसार जैसे शहर में इस स्तर की प्रतियोगिता का आयोजन के यहां के खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने का काम करेगा। अखिल बॉक्सर ने कहा कि खिलाड़ियों को डिसिप्लिन और डेडीकेशन के साथ खेलना चाहिए और अपना 100% देने की कोशिश करनी चाहिए।
हिसार के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी हरियाणा  की टीम से खेलने वाली स्वीटी पुराने अपना बाउट जीतने के बाद बोली कि आज के दौर में कंपटीशन बढ़ चुका है और आगे बढ़ना पहले जितना आसान नहीं रहा है। इसके बावजूद उसने एशियन गेम और ओलंपिक की तैयारियां शुरू कर दी हैं और वो चाहती हैं कि अगले एशियन गेम और ओलंपिक में देश का नाम रोशन करें। अपने होम टाउन में हो रही चैंपियनशिप को लेकर स्वीटी ने कहा कि बहुत बार ऐसा होता था कि उसके माता पिता उसका मैच नहीं देख पाते थे, मगर हिसार में मैच होने की वजह से अब उसके परिवार वाले भी मैच देख पा रहे हैं और उसका हौसला बढ़ा रहे हैं।

IMG 20211025 WA0054

इस मौके पर राजस्थान के कोटा निवासी अरुंधति चौधरी ने अपना मैच जीतने के बाद कहा कि पेरिस ओलंपिक उनका सपना है। उससे पहले वर्ल्ड चैंपियनशिप में वह गोल्ड लेकर देश का नाम रोशन करना चाहेगी। उन्होंने बताया कि बॉक्सिंग खेलने से पहले वह बॉस्केटबॉल खेला करती थी लेकिन उनके पिता ने कहा की टीम खेल के बजाय व्यक्तिगत खेल खेलना चाहिए उसी के बाद वह बॉक्सिंग की लाइन में आई और यूथ वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीता।

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here