गुजवि में रोजगार एवं उद्यमिता के कौशल विकास विषय पर एफडीपी कार्यक्रम संपन्न

0
11
0 0
Read Time:4 Minute, 50 Second

गुजवि में रोजगार एवं उद्यमिता के कौशल विकास विषय पर एफडीपी कार्यक्रम संपन्न

हिसार, 29 नवंबर
गुरु जंभेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी विश्वविद्यालय हिसार की ट्रेनिंग एंड प्लेसमैंट सैल के सौजन्य से ’ रोजगार एवं उद्यमिता के कौशल विकास’ विषय पर आयोजित फैक्लटी डेवलैपमैंट कार्यक्रम (एफडीपी) संपन्न हो गया। एआईसीटीई द्वारा प्रायोजित इस कार्यक्रम के समापन समारोह के मुख्यातिथि विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो.अवनीश वर्मा थे। ट्रेनिंग एंड प्लेसमैंट सैल के निदेशक प्रताप मलिक ने समारोह की अध्यक्षता की।  एफडीपी कार्यक्रम के संयोजक प्रो. संदीप आर्य तथा ट्रेनिंग एंड प्लेसमैंट सैल के सहायक निदेशक आदित्यवीर सिंह भी समापन समारोह में उपस्थित रहे।
कुलसचिव प्रो. अवनीश वर्मा ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि इस प्रकार कार्यक्रमों से प्रतिभागियों के ज्ञान तथा बुद्धि का विकास होता है। जिससे उन्हें व्यक्तिगत जीवन के साथ-साथ व्यवसायिक जीवन में भी लाभ होता है। उन्होंने प्रतिभागियों से कहा कि वे अपने आइडियाज पर प्रोजैक्ट तैयार करें, फिर उन्हें अच्छे र्स्टाट अप में तबदील करें।
निदेशक प्रताप मलिक ने अपने संबोधन में कहा कि यह एफडीपी कार्यक्रम प्रतिभागियों के लिए अत्यंत उपयोगी रहा है। उन्होंने इस कार्यक्रम के संचालन के लिए पूरी टीम को बधाई भी दी।
सहायक निदेशक डा. आदित्यवीर सिंह ने बताया कि इस कार्यक्रम में विभिन्न विश्वविद्यालयों तथा महाविद्यालयों के 60 शिक्षकों तथा 140 विद्यार्थियोंं ने भाग लिया। कार्यक्रम में कुल 18 सत्र रखे गए। जिनमें विषय विशेषज्ञों ने रोजगार तथा उद्यमिता पर प्रतिभागियों को विस्तृत जानकारी दी।
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बलदेव राज काम्बोज तथा एसवीएसयू पलवल के कुलपति राज नेहरू ने इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया था। उसके बाद विशेषज्ञ पुनीत रमन, डा. गौरी प्रभू, राजेंद्र खैरे, डा. चित्रा प्रकाश, जगत जीत सिंह, ओमपूर्ण तथा मनीषा मणी ने प्रतिभागियों को रोजगार एवं उद्यमिता के विभिन्न पहलुओं जैसे उद्यमियता के प्रारंभिक बिंदु, आडिया कॉन्सेपच्यूलाइजेशन, इंटरप्यरन्योरियल माइंड सैट, प्रसिद्ध स्टार्टअप सफलता कहानियां, जोखिम प्रबंधन, वित्तीय सहयोग के विकल्प, मार्केटिंग एंड सोशल मीडिया प्रबंधन तथा अन्य सभी संबंधित पहलुओं से प्रतिभागियों को अवगत कराया।
विशेषज्ञ नितिन गोयल, रीना यादव, पंकज चैधरी, मंजूला सुलारिया, दिनेश नागपाल, सागर अमालानी, डा. शील निधि त्रिपाठी, रीतू राज कौशल व पंकज असीजा ने फ्रैशर्ज सेे कोरपोरेट को आशाएं, लाइफ स्किल, एप्टीट्यूड स्किल तथा प्रोफैशनल एक्सीलैन्स पर अपने संबोधन दिए। एआईसीटीई के निदेशक ने प्रतिभागियों को नई शिक्षा नीति से अगवत कराया। एनआईटी कुरुक्षेत्र के टीपीओ मोहित ने प्रतिभागियों को विभिन्न संस्थानों में विभिन्न ट्रेनिंग एंड प्लेसमैंट व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी।
स्वयंसेवक तुषार, गोपाल त्रिपाठी, स्तूति निकिता, रक्षन्धा, निशांत ने विद्यार्थी संयोजक नित्या चुघ के नेतृत्व में कार्यक्रम संचालन में अपना श्रेष्ठ योगदान दिया।

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here