गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के खाद्य तकनीकी विभाग द्वारा ‘प्रभावी शैक्षणिक अभ्यास’ विषय पर दो दिवसीय ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन किया गया।

0
9
0 0
Read Time:2 Minute, 46 Second

गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के खाद्य तकनीकी विभाग द्वारा ‘प्रभावी शैक्षणिक अभ्यास’ विषय पर दो दिवसीय ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन किया गया।

गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार
सितम्बर 17, 2021
गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के खाद्य तकनीकी विभाग द्वारा ‘प्रभावी शैक्षणिक अभ्यास’ विषय पर दो दिवसीय ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन किया गया। पंजाब विश्वविद्यालय, चंडीगढ़ के मानव संसाधन विकास केंद्र की उपनिदेशक प्रोफेसर जयंती दत्ता कार्यशाला की मुख्य वक्ता थी।  कार्यशाला की अध्यक्षता खाद्य प्रौद्योगिकी विभाग के अध्यक्ष डॉ. मनीष कुमार ने की।
मुख्य वक्ता प्रो. जयन्ती दत्ता ने अपने सम्बोधन में कहा कि शिक्षण का उद्देश्य विद्यार्थी को शैक्षणिक ज्ञान के साथ-साथ व्यवहारिक ज्ञान प्रदान करना भी है।  उन्होंने शिक्षक की वास्तविक भूमिका को बताते हुए कहा कि शिक्षक राष्ट्र निर्माण में अग्रणी योगदान दे सकता है।  हम अपना अधिकांश समय बिना उपयोगिता के कार्यों में व्यतीत कर देते हैं।  इस ओर हमें ध्यान देना चाहिए। वर्तमान युग में शिक्षकों को एक कुशल मार्गदर्शक बनने की आवश्यकता है, जो कि विद्यार्थियों की क्षमता को विकसित करने में सहायक हों।
डा. मनीष कुमार ने कहा कि यह कार्यशाला प्रतिभागियों के लिए अत्यंत लाभदायक सिद्ध होगी।  विभाग इस प्रकार के आयोजन नियमित रूप से करवाता रहेगा।  कार्यशाला में विभाग के सभी शिक्षकों ने भाग लिया।  विभाग के शिक्षकों ने भी इस कार्यक्रम की उपयोगिता पर अपने विचार साझा किए।  इंजीनियर आस्था दीवान ने धन्यवाद प्रस्ताव किया।  कार्यक्रम का संचालन प्रो. अलका शर्मा ने किया।

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here