मानव सेवा की मिसाल बनी मीनाक्षी मुदगल

जरूरतमंद गरीब बच्चों को पांच वर्षों से दे रही है नि:शुल्क शिक्षा
600 से अधिक बेटियों को सिलाई सेंटर व ब्यूटी पार्लर की भी दिलवा रही है ट्रेनिंग
हिसार। जंग कोई भी हो उसे जीतने की जिम्मेदारी योद्धाओं पर होती है। चाहे वह जंग अशिक्षा के खिलाफ हो या फिर बेरोजगारी के खिलाफ। गांव सातरोड निवासी मीनाक्षी मुदगल एक ऐसी ही शख्स हैं। जिन्होंने समाजसेवा के क्षेत्र में न केवल ऐसी दर्जनों लड़ाइयां लड़ी, बल्कि उनमें जीत भी हासिल की। राह ग्रुप फाउंडेशन की हरियाणा प्रदेश की महिला उपाध्यक्षा मीनाक्षी मूल रुप से तोशाम के रहने वाली हैं, और अपनी शादी के बाद इन्होंने अपने पति मनोज भारद्वाज के साथ सातरोड गांव को अपनी कर्म स्थली के रुप में चुना। सातरोड गांव में अशिक्षा व बेरोजगारी को देख कर उनका मन बेहद दु:खी हुआ तो उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में उतरने का फैसला लिया। ब्राह्मण सम्मान रक्षा संघ महिला प्रदेश अध्यक्ष का दायित्व संभाल रही मीनाक्षी मुदगल ने तीन कुर्सियों व 13 बच्चों के साथ स्कूल आरंभ किया। उसके बाद उनकी मेहनत रंग लाई और उन्होंने शिवालिक शिक्षा समिति की चेयरपर्सन रहते हुए माउंट शिवालिक हाई स्कूल लाडवा हिसार,बी.एच.पी. विद्या मंदिर स्कूल सातरोड खास व श्याम बाल विहार कैमरी नामक तीन स्कूल खोल कर विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। उनके इन तीन स्कूलों में वर्तमान में एक हजार से अधिक विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। वर्तमान में इन स्कूलों में 50 महिलाओं व 15 अन्य व्यक्तियों को रोजगार मिल रहा है। हरियाणवीं संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए भी प्रत्येक वर्ष कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं। इसके अलावा वे गांव कैमरी स्थित गोशाला में जा कर अनाथ बच्चों की देखभाल करती हैं और गो सेवा में भी अपना समय बिताती हैं।
जरुरतमंद बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा:-

राह गु्रप फाउंडेशन में हरियाणा प्रदेश उपाध्यक्ष का दायित्व संभाल रही मीनाक्षी मुदगल ने देखा कि सातरोड़ के साथ लगते क्षेत्रों व सेक्टर 16-17 की झुग्गी झोपडिय़ों में रहने वाले आर्थिक तंगी के चलते शिक्षा ग्रहण नहीं कर पा रहे हैं। इसके बाद उन्होंने अपने स्कूल स्टाफ की मदद से इस क्षेत्र के तीन दर्जन से अधिक विद्यार्थियों को नि:शुल्क शिक्षा उपलब्ध करवाई, बल्कि उन विद्यार्थियों को पांच वर्षों तक पुस्तकें, वर्दी, जूते व आने -जाने के लिए वाहन भी नि:शुल्क उपलब्ध करवाया।

Meenakshi Mudgil Pic 1
हर वर्ष लगाती हैं 31 पौधे:-
दो दर्जन से अधिक धार्मिक संस्थाओं को प्रत्येक वर्ष आर्थिक सहयोग देने वाली मीनाक्षी मुदगल प्रत्येक वर्ष 31 पौधे लगाती है। उनके द्वारा विगत दस वर्षों में लगाए गए अधिकांश पौधे पेड़ों का रुप धारण कर रहे हैं। गांव लाडवा के माउंट शिवालिक हाई स्कूल में उनके द्वारा रोपित वट, नीम व पीपल के पौधे आज उनकी कर्तव्यनिष्ठा की गवाही दे रहें है।
अब तक मिले सम्मान:-
बचपन से ही समाज सेवा में लगी मीनाक्षी मुदगल अब तक पूर्व मंत्री सावित्री जिंदल, केश कला एवं कौशल विकास बोर्ड के निदेशक नरेश सेलपाड़, हरियाणा शिक्षा बोर्ड भिवानी के चेयरमैन डा. जगबीर सिंह, राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा, नगर निगम हिसार के मेयर गौतम सरदाना अलग-अलग मंचों पर विभिन्न अवार्डों से सम्मानित हो चुकी हैं।
बेटियों को बना रही हैं आत्मनिर्भर:-
मीनाक्षी मुदगल विगत तीन वर्षों से राह ग्रुप फाउंडेशन के बैनर तले बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रयासरत हैं। वे  हिसार व भिवानी जिलों में दस से अधिक स्किल ट्रेनिंग सेंटर खोल कर 600 से अधिक बेटियों को आत्मनिर्भर बना चुके हैं। राह संस्था के इन ब्यूटी पार्लर, सिलाई सेंटर में आम सेटर्स की तुलना में बेहद गुणवत्तापरक शिक्षा प्रदान की जाती है।

Meenakshi Mudgil Pic 5

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें