अगर महम में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनता तो हिसार, भिवानी, रोहतक के लाखों युवाओं को रोजगार मिलता – दीपेंद्र हुड्डा

0
10
0 0
Read Time:6 Minute, 25 Second

अगर महम में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनता तो हिसार, भिवानी, रोहतक के लाखों युवाओं को रोजगार मिलता – दीपेंद्र हुड्डा

इस कार्य के लिये जो जमीन चिन्हित की गयी थी वो इन तीनों जिलों के बीच में पड़ती है – दीपेंद्र हुड्डा
• मय्यड़ टोल धरने पर पहुँच दीपेन्द्र हुड्डा ने आंदोलनरत किसानों से मुलाक़ात की और उनका हाल-चाल पूछा
• हजारों करोड़ के मंजूर प्रोजेक्ट हरियाणा से दूसरे प्रदेशों में जाने का दुःख – दीपेंद्र हुड्डा
• सांसद दीपेंद्र ने महम-हांसी-रोहतक रेल लाईन के काम की धीमी गति पर जताई नाखुशी
हिसार, 17 सितंबर। कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा आज हिसार के कई सामाजिक कार्यक्रमों में शिरकत करने पहुंचे। इस दौरान मय्यड़ टोल धरने पर पहुँचकर उन्होंने आंदोलनरत किसानों से मुलाक़ात की और उनका हाल-चाल पूछा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की कमजोर भाजपा सरकार की कमजोरी की वजह से कई मेगा परियोजनाएं हरियाणा से उठाकर दूसरे प्रदेशों में भेज दी गयी। दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि अगर महम में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनता तो हिसार, भिवानी, रोहतक के लाखों युवाओं को रोजगार मिलता। क्योंकि इस कार्य के लिये जो जमीन चिन्हित की गयी थी वो इन तीनों जिलों के बीच में पड़ती है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार में बैठे लोगों के उदासीन रवैये से ऐसा लगता है जैसे विकास इनके एजेंडे में कहीं नहीं है और ये सिर्फ सत्ता सुख भोगने के लिये ही बैठे हैं। सत्ता सुख भोगना ही इनका एकमात्र लक्ष्य है।
महम इंटरनेशनल एयरपोर्ट के जेवर चले जाने का दर्द जाहिर करते हुए दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि हिसार भिवानी और रोहतक की सीमा पर 20 से 25 हजार करोड़ की लागत से अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डा उनकी सरकार के समय मंजूर कराया गया था, जिसके बनने पर पूरे इलाके के लाखों युवाओं के लिए रोजगार के नये साधनों का सृजन होता साथ ही लाखों करोड़ रुपये का निवेश आता। लेकिन केंद्र की भाजपा सरकार इसे उठाकर यूपी के जेवर में ले गयी और प्रदेश की भाजपा सरकार चुपचाप बैठी झूठे विज्ञापन ही छापती रही। उन्होंने आगे कहा कि जब से भाजपा सत्ता में आई है, तब से सरकारी विभागों का निजीकरण किया जा रहा है। ये ठीक उसी प्रकार है कि आप घर का खर्च चलाने के लिये अपने पुश्तैनी जेवर बेच दें। बड़े पैमाने पर सरकारी संपत्तियों के बेचने से ऐसा लगता है कि देश की अर्थव्यवस्था की हालत बेहद दयनीय है। आखिर कब तक सरकार देश की संपत्ति बेच कर अपना खर्च चलायेगी। यदि भाजपा सरकार संपत्तियों को यूं ही बेचती रही तो एक दिन कुछ नहीं बचेगा और बेरोजगारी विकराल रूप धारण कर लेगी।
उन्होंने महम-हांसी-रोहतक रेल लाईन के काम की धीमी गति पर नाखुशी जताते हुए कहा कि जब मैं लोकसभा का सदस्य था और केंद्र में हमारी सरकार थी, तब मैंने बड़ी मेहनत से इसे मंजूर कराया था। उन्होंने बताया कि वर्ष 2012 में हांसी में रेल रोड रैली में तत्कालीन केन्द्रीय रेल मंत्री और सड़क परिवहन मंत्री ने हांसी महम रोहतक रेलवे लाइन और रोहतक से आगे हिसार तक एनएच 10 की 4 और 6 लेनिंग का शिलान्यास कर काम चालू करवाया था। यह रेल लाइन अब तक बनकर चालू हो जानी चाहिए थी, मगर भाजपा सरकार की ढिलाई और गलत नीयत के कारण इसका काम अब तक पूरा नहीं हो सका। सांसद दीपेंद्र ने कहा कि इस रेल लाईन के शुरु होने से सबसे ज्यादा फायदा हिसार का होगा और ये सीधे दिल्ली से जुड़ जायेगा। जिससे यहां निवेश के अवसर बढ़ेंगे।
दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि उनकी सरकार ने हिसार के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी और अगली पीढ़ी को बेहतर भविष्य देने की दूरदृष्टि से काम किया। इसका प्रमाण देते हुए उन्होंने बताया कि हिसार में लाला लाजपत राय के नाम से वेटेनरी साईंसेज विश्वविद्यालय बनाया गया। गुरु जम्बेश्वर यूनिवर्सिटी पर सैंकड़ों करोड़ रुपया खर्च करके उसको आधुनिक स्वरूप प्रदान किया गया। इतना ही नहीं, सिरसा में इनेलो की सरकार चौ. देवीलाल के नाम पर 10 कमरों का जो नाम यूनिवर्सिटी रखकर चली गयी थी उसे भी हमारी सरकार ने सैंकड़ों करोड़ रुपया खर्च कर आधुनिक यूनिवर्सिटी का स्वरूप दिया। दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस की हुड्डा सरकार की प्राथमिकता बच्चों और युवाओं के लिए अच्छी शिक्षा और रोजगार रहा। हुड्डा सरकार ने हिसार में हर वर्ष 10 स्कूल अपग्रेड किये थे। जबकि, मौजूदा भाजपा-जजपा सरकार स्कूलों में ताले लगाने का काम कर रही है।
dipendra huda

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here