Smart lecture

होम साइंस कॉलेज की छात्राएं अब स्मार्ट क्लास रूम में करेंगी पढ़ाई : प्रोफेसर बी.आर. काम्बोज

Read Time:4 Minute, 51 Second

होम साइंस कॉलेज की छात्राएं अब स्मार्ट क्लास रूम में करेंगी पढ़ाई : प्रोफेसर बी.आर. काम्बोज

एचएयू के होम साइंस कॉलेज में स्मार्ट क्लास रूम का किया उद्घाटन
चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के इंदिरा चक्रवर्ती गृह विज्ञान महाविद्यालय की छात्राएं भविष्य में स्मार्ट क्लास रूम में पढ़ाई करते हुए नजर आएंगी। इससे उन्हें अपने क्षेत्र में बेहतरीन करने का अवसर मिलेगा। ये विचार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर बी.आर. काम्बोज ने कहे। वे इंदिरा चक्रवर्ती महाविद्यालय में स्मार्ट क्लास रूम के उद्घाटन अवसर पर बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि इस स्मार्ट क्लास रूम में छात्राओं को आधुनिक सेवाएं जिसमें इंटरनेट सेवाएं, मल्टीमीडिया, टच स्क्रीन एलईडी, वातानुकूलित व अन्य आवश्यक सेवाएं मुहैया करवाई जाएंगी। हमारा प्रयास है कि जल्द ही सभी लेक्चर हॉल को स्मार्ट क्लास रूम में तब्दील किया जाएगा। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय का हमेशा प्रयास रहता है कि विद्यार्थियों को बेहतरीन सुविधाएं प्रदान की जाएं। इसके लिए समय-समय पर राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर के संस्थानों के साथ आदान-प्रदान कार्यक्रम आयोजित करवाए जाते हैं ताकि विद्यार्थियों का उसी अनुसार प्रदर्शन हो सके। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की राष्ट्रीय रैंकिंग लगातार बढ़ रही है। अब हमारा लक्ष्य इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर तक बढ़ाना है। इसके लिए हम सभी को सामूहिक प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि होम साइंस कॉलेज ने आईसीएआर के संस्थानों में अपना अग्रणी स्थान बनाया है तथा लगातार शैक्षणिक गुणवत्ता में ऊंचाइयों को हासिल कर रहा है। महाविद्यालय के स्टाफ सदस्यों व विद्यार्थियों के सामूहिक प्रयास, उपलब्ध संसाधनों के समुचित उपयोग व टीम भावना से ही हाल ही में केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा वर्ष 2021 के लिए जारी नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फे्रमवर्क (NIRF) में होम साइंस कॉलेज ने देशभर में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। भविष्य में इसे बरकरार रखते हुए ओर अधिक बेहतर बनाने के लिए प्रयास जारी रहेंगे।
टीम भावना का नतीजा है रैंकिंग : डॉ. बिमला ढंाडा
महाविद्यालय की अधिष्ठाता डॉ. बिमला ढांडा ने कहा कि कोरोना काल ने शिक्षा में आन लाइन शिक्षण के महत्व को बढ़ाया है। इसी के चलते शिक्षकों ने सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार से युक्त नवीनतम तकनीकों का प्रयोग करते हुए विद्यार्थियों तक शिक्षा को पहुंचाया है। इस क्लास रूम को आईसीएआर की राष्ट्रीय कृषि उच्चतर शिक्षा परियोजना के आईडीपी प्रोजेक्ट के तहत बनाया गया है जिसका भविष्य में छात्राओं को भरपूर लाभ मिलेगा। आईडीपी की नोडल अधिकारी एवं खाद्य एवं पोषण विभाग की अध्यक्षता डॉ. संगीता चहल सिंधु ने मंच का संचालन किया। इस अवसर पर ओएसडी डॉ. अतुल ढींगड़ा, अनुसंधान निदेशक डॉ. एस.के. सहरावत, अधिष्ठाता डॉ. अमरजीत कालड़ा, डॉ. राजवीर सिंह, वित्त नियंत्रक नवीन जैन, इंजीनियर जितेंद्र कुमार, डॉ. आर.एस. बेनीवाल, डॉ. बीना यादव, डॉ. मंजू मेहता, डॉ. शीला सांगवान, डॉ. नीलम रोज सहित अन्य स्टाफ सदस्य मौजूद रहे।
24.9.2021

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Photo 1 Chemistry 26.09.2021 Previous post गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार का रसायन विज्ञान विभाग यूजीसी, सीएसआईआर तथा डीएसटी के अतिरिक्त अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों के सहयोग से 13 शोध परियोजनाएं पूरी कर चुका है।
Photo 4 TP Rohit 23.09.2021 Next post गुजविप्रौवि के पांच विद्यार्थियों का हुआ जयपुर आधारित कंपनी में चयन
Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial
%d bloggers like this: