एचएयू को राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत एक साथ मिले दो राष्ट्रीय पुरस्कार

0
9
0 0
Read Time:6 Minute, 17 Second

एचएयू को राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत एक साथ मिले दो राष्ट्रीय पुरस्कार

महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया सम्मानित
हिसार, 26 सितम्बर
चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार को लगातार एक के बाद एक उपलब्धियां हासिल हो रही है। विश्वविद्यालय को जहां शिक्षा, शोध, विस्तार के क्षेत्र में अपने अमूल्य योगदान के लिए जाना जाता है वहीं समाज सेवा के क्षेत्र में भी इसका नाम पीछे नहीं है। समाज सेवा के क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने पर विश्वविद्यालय को एक साथ दो राष्ट्रीय अवार्ड हासिल हुए हैं। ये दोनों सम्मान देश के महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आयोजित कार्यक्रम में ऑनलाइन जुडक़र प्रदान किए हैं। कार्यक्रम का आयोजन प्रवासी भारतीय केंद्र नई दिल्ली में आयोजित किया गया था जिसमें केंद्रीय युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर भी मौजूद थे। ये राष्ट्रीय अवार्ड विश्वविद्यालय के एनएसएस अधिकारी डॉ.भगत सिंह को कार्यक्रम अधिकारी श्रेणी में जबकि स्वयंसेवक की श्रेणी में कृषि महाविद्यालय के स्वयंसेवक अभिषेक को राष्ट्रपति के हाथों मिला है। दोनों अवार्ड युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार की ओर से राष्ट्रीय सेवा योजना दिवस के अवसर पर वर्ष 2019-20 के लिए प्रदान किए गए हैं। अवार्ड के तहत विश्वविद्यालय के नाम ट्राफी, एक सिलवर मेडल और दो लाख रूपये की नकद राशि एनएसएस इकाई को और डेढ़ लाख रूपये व्यक्तिगत रूप से अवार्ड हासिल करने वाले अधिकारी को मिले हैं। इसी प्रकार स्वयंसेवक को एक सिलवर मेडल व एक लाख रूपये की नकद राशि व्यक्तिगत रूप से मिली है।
दृढ़ इच्छाशक्ति व मेहनत से हासिल होता है मुकाम : प्रोफेसर बलदेव राज काम्बोज
विश्वद्यालय के कुलपति प्रोफेसर बी.आर. काम्बोज ने दोनों राष्ट्रीय पुरस्कार विजेताओं को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है। उन्होंने कहा कि मन में दृढ़ इच्छाशक्ति और मेहनत के कारण ही इंसान को लक्ष्य की प्राप्ति होती है। डॉ. भगत सिंह लगातार एनएसएस के माध्यम से समाज सेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर रहे हैं। उनके मार्गदर्शन में स्वयंसेवक भी बढ़ चढक़र सामाजिक गतिविधियों में हिस्सा ले रहे हैं। उसी के परिणाम स्वरूप एक साथ विश्वविद्यालय को दो राष्ट्रीय पुरस्कार मिलना अपने आप में बहुत बड़ी गौरव की बात है। भविष्य में भी विश्वविद्यालय यूं ही दिन दोगुनी रात चौगुनी उन्नति करता रहेगा। इस अवसर पर ओएसडी डॉ. अतुल ढींगड़ा, छात्र कल्याण निदेशक डॉ. देवेंद्र सिंह दहिया सहित विश्वविद्यालय के अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों ने राष्ट्रीय पुरसकार मिलने पर दोनों को बधाई दी है।
एनएसएस अधिकारी के नेतृत्व में मिल चुके हैं 6 अवार्ड
कार्यक्रम अधिकारी डॉ. भगत सिंह ने अपने स्वयंसेवकों के माध्यम से पिछले 10 सालों में सामाजिक क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन किया है। उन्होंने सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ जागरूकता रैली, पौधारोपण, स्वच्छता अभियान, योग शिविर, कौशल विकास के विभिन्न प्रशिक्षण शिविर, फसल प्रबंधन, पशु पालन सहित अनेक क्षेत्रों में विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया है। डॉ. भगत सिंह को वर्ष 2017-18 में राज्य के सर्वश्रेष्ठ कार्यक्रम अधिकारी के अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है। इनके मार्गदर्शन में गत वर्षो में 6 स्वयंसेवकों को राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत राष्ट्रीय अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।
अभिषेक का भी है अमूल्य योगदान
सामाजिक क्षेत्र में एनएसएस के माध्यम से अभिेषक ने अनेक बार रक्तदान शिविर आयोजित कर रक्तदान करना, पल्स पोलियो अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाना, सामाजिक जागरूकता रैलियां आयोजित करना, स्वच्छता अभियान, पौधारोपण जैसे कई महत्वपूर्ण विषयों पर गतिविधियों में बढ़-चढक़र भाग लिया है। अभिषेक के नेतृत्व में गांव सीसवाला में सफलतापूर्वक एनएसएस शिविर का आयोजन किया गया था। अभिषेक की बेहतरीन गतिविधियों को देखते हुए उसे विश्वविद्यालय के सर्वश्रेष्ठ स्वयं सेवक राष्टीय सेवा योजना पुरस्कार से नवाजा गया जा चुका है।

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here