छोटे संकेत भी बन सकते है बड़ी बीमारी की वजह, समय से पहले पहुंचे डॉक्टर के पास

जब भी शरीर में कोई बीमारी लगती है तब उससे पहले वह शरीर में कई तरह के संकेत देती है. लेकिन ये संकेत इतने मामूली रहते हैं कि ज्यादातर लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं. दुश्वारियां यहीं से शुरू हो जाती है. जैसे शरीर में तिल या मस्सा का जब रंग बदलता है तो ज्यादातर लोगों को यह नहीं मालूम कि ऐसा क्यों हो रहा है. ऐसे मामूली बदलाव बहुत सामान्य लगते हैं. लेकिन यह बदलाव कैंसर जैसी घातक बीमारी के पूर्व सूचक हो सकते हैं. इसलिए शरीर में कुछ असामान्य संकेत दिखें, या पहले की संरचना में कोई बदलाव दिखें तो इसे किसी भी हाल में नजरअंदाज न करें. ऐसे संकेतों के दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

शरीर में इन संकेतों से हरदम रहें चौकन्ना
1. नाखूनों में बदलाव-हेल्थलाइन की रिपोर्ट के मुताबिक नाखूनों में कमजोरी, नाजुकता, जल्दी-जल्दी टूटना, ज्यादा मुलायम होना, पीले पड़ जाना आदि कई ऐसे संकेत हैं जो समय से पहले आपको सूचना देता है कि इससे बीमारियां होने वाली है. यदि आपके नाखून बहुत ज्यादा मुलायम और कमजोर है तो इसका मतलब है कि इससे विटामिन, कैल्शियम, आयरन या फैटी एसिड की कमी है. ये कमी आमतौर पर बड़ी बीमारियों के संकेत हैं. अभी से अगर इसके लिए उपाय कर लेंगे तो बाद में किसी बड़ी बीमारियों से बचे रहेंगे.

  1. स्किन में तिल या मस्से के रंग में बदलाव-मायो क्लिनिक के मुताबिक यदि शरीर में कहीं तिल या मस्सा है और पहले जिस तरह उसका रंग-रूप या आकार था, अगर उसमें बदलाव हो गया है तो इसका मतलब है कि यह मेलोनोमा हो सकता है. यानी भयंकर कैंसर हो सकता है. इसलिए स्किन पर इन छोटे से बदलाव को कभी नजरअंदाज न करें.

  2. मसूड़ों से ब्लीडिंग-अक्सर लोग मसूड़ों के परेशानी को नजरअंदाज कर देते हैं. एक आध दिन अगर मसूड़ों से ब्लीडिंग होने लगे तो लोग समझते हैं यह मामूली चीज है लेकिन यदि आप इसे ज्यादा दिनों तक नजरअंदाज कर देंगे तो इससे जिंजिवाइटिस बीमारी हो सकती है. यह बाद पायरिया का रूप ले सकता जिसमें हमेशा मुंह से बदबू आती रहेगी. यह स्थिति आपके लिए शर्मनाक हो सकती है. इसलिए मुंह में दांत या मसूड़ों की छोटी सी परेशानी को भी कभी नजरअंदाज न करें.

  3. पैरों में क्रैंप-कभी-कभी आपके पैरों में क्रैंप होने लगता है. इसमें बेपनाह दर्द होता है और जिस स्थिति में पैरों की मांसपेशियां होती है, उस स्थित में ऐंठन या बदलाव कुछ समय के लिए हो जाता है. ऐसा कभी-कभार होता है. इसलिए ज्यादातर लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं. पर यह लापरवाही खतरनाक हो सकती है. यह किडनी फेल्योर सहित कई बीमारियों के संकेत हो सकते हैं. विटामिन बी 12 की कमी, सिरोसिस, एनीमिया, अल्कोहल डिसॉर्डर, पर्किंसन, स्पाइनल स्टेनोसिस, हाई ब्लड प्रेशर, हाइपरग्लेसीमिया सहित कई बीमारियों से पहले पैरों में क्रैंप की शिकायतें रहती हैं.

 

  1. आइब्रो से बालों का कम होना- आइब्रो चेहरे की खूबसूरती के लिए जरूरी है. आइब्रो से अगर बाल कम हो जाए तो यह कई बीमारियों के आने की पूर्व सूचना है. यह ऑटोइम्यून डिजीज एलोप्सिया, स्किन डिजीज एग्जिमा, हेयर डिसॉर्डर, थायरॉइड, जिंक की कमी जैसी कई बीमारियों का पूर्व संकेत है.

anvimultisolutions@gmail.com

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *