सी.ई.टी. परिक्षा के लिए परिक्षार्थी हुए परेशान, महिलाओं सहित दिव्यांगों का भी सेंटर दूर

हरियाणा में 5 और 6 नवम्बर को होने वाली सी.ई.टी. परिक्षा को लेकर प्रदेश सरकार ने किस प्रकार की तैयारी की है वह साफ नजर आ रहा है। कहा ये जा रहा था कि परिक्षा केन्द्र दूर नहीं दिए जाएगें ताकि आवेदकों को परेशानी न उठानी पड़े यहां तक की महिलाओं के लिए यह चर्चा थी कि उनके सेंटर ज्यादा दूर नहीं अलॉट किए जाएगें लेकिन यहां तो सभी कुछ दावों के विपरीत नजर आ रहा है। जरा इनसे मिलिए ये हैं देवेन्द्र जी जो की हरियाणा के भिवानी से हैं वे अपना दर्द बयां करते हुए कहते हैं।
गजब की सरकार है हमारी
और सबसे महान है हमारे मुख्यमंत्री जी जो कहते है दिव्यांग व्यक्तियों को आने जाने में परेशानी न हो इसी लिए CET के पेपर का सेंटर उन्ही के जिले में दिया जाएगा। अब वो पेपर की जगह उनके शहर के किसी भी गांव में हो सकती है। मेरा पेपर है 5 नवंबर को और मेरा एग्जाम सेंटर बहल गांव आया है जो की मेरे घर से लगभग 60 किलो मीटर की दूरी पर है। अब कोई पूछे सीएम साहब से कोई दिव्यांग एग्जाम देने इतनी दूर कैसे जाइए भला ? ट्रेन वहां कोई जाती नही, बस मे भीड़ होने के चलते दिव्यांग चढ़ भी नही सकता। अब आप ही कहिए मैं अपना पेपर कैसे दूं।

परिक्षार्थियों पर आ​र्थिक बोझ न पड़े

परिक्षार्थियों को आर्थिक रूप से लाभ पहुंचाने के लिए सूबे के मुखिया मनोहर लाल ने रोडवेज बस सेवा नि:शुल्क करने की घोषणा तो कर दी। लेकिन उससे पहले व्यवस्था का आकलन नहीं किया गया। यही कारण रहा कि परिक्षार्थियों को रोडवेज की बसों में सीट बुक करने के नाम पर पसीने छूट गए। यह भी सच है कि परिक्षार्थियों की सख्या के आगे पब्लिक ट्रांस्पोर्ट की व्यवस्था कमतर पड़ रही है। यही कारण ​है कि हरियाणा रोडवेज के लगभग सभी डिपो पर अव्यवस्था का आलम देखने को मिला। बीते गुरूवार दोपहर बाद तक उच्च अधिकारियों की बैठक का दौर ही चलता रहा कि इतनी बड़ी व्यवस्था सम्भाली कैसे जाए। यहां तक की प्रदेश के लगभग सभी बस् स्टैड परिक्षार्थियों और उनके परिजनों से भरे हुए दिखाई दिए। पूछताछ खिड़की पर सुबह से आवेदकों की भीड़ जुटी रही। 3 बजे के बाद हिसार डिपो की कर्मशाला में व्यवस्था की गई। यहां कांउटर बनाऐ गए जिसमें परिक्षा देने जाने वाले आवेदकों को रोडवेज की बसों में सीट बुक किए जाने की प्रक्रिया आरम्भ हुई। यह कार्यक्रम देर शाम तक चलता रहा। आज भी प्रदेश के सभी डिपो में हेल्प डेस्क लगाई गई है जहां से सी.ई.टी. के आवेदक रोडवेज की बस में अपनी सीट बुक ेकरवा सकते हैं।

WhatsApp Image 2022 11 04 at 12.23.11

आंन लाईन पोर्टल का दावा फेल

सी.ई.टी. परिक्षा से पहले यह दावा किया जा रहा था कि आवेदकों के लिए आंन लाईन पोर्टल खोला जाएगा जहां से घर बैठे ही आवेदक अपने परिक्षा केन्द्र के लिए सीट बुक करवा सकेंगा लेकिन परिक्षा के एैन मौके पर सरकार के सभी दावे खोखले सावित हुए। यहां तक की आंफ लाईन सीट बुकिंग के लिए भी आवेदकों को घंटों लाईन में लगना पड़ा। यदि बात हिसार की जाए तो यहां सुबह से ही पूछताछ केन्द्र के आगे भीड़ जमा होनी शुरू हो गई थी लेकिन किसी भी अधिकारी को यह जानकारी नहीं थी कि कब से सीट बुकिंग शुरू होंगी। होगी भी या नहीं होगी। आखिर कर शुरूआत हुई तो वह भी दोपहर बाद 3 बजे। इसमें भी दूर के कई कांउटर बनाऐ ही नहीं गए। जिसमें पानीपत और अम्बाला जिन परिक्षार्थियों का सेंटर आया हुआ था वे इधर उधर भटकते नजर आए। देर शाम को हंगामें के बाद अम्बाला के लिए सीट बुकिंग की व्यवस्था शुरू की गई।

आज भी हो रही है बुकिंग

यदि कोई भी परिक्षार्थी सी.ई.टी. का पेपर देने जा रहा है तो वह रोडवेज की बस में अपनी सीट बुक करवा सकता है उसके लिए उसे अपना ऐडमिट कार्ड की दो फोटो कॉपी लेकर जाना होगा। यदि वह अकेले जा रहा है तो अपने ऐडमिट कार्ड की दो फोटा कॉपी ले जाकर अपने लिए सीट बुक करवा सकता है यदि उसके साथ उनका कोई परिजन जा रहा है तो उनका परिवार पहचान पत्र लगेगा जिसमें परिक्षार्थी के साथ उनका नाम अंकित हो। इस प्रकार दो लोग नि:शुल्क बस सेवा का लाभ उठा सकते हैं।

 

 

 

 

 

 

TheNationTimes

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *