[ad_1]

डेराबस्सी3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
orig orighirasat1602378098 1604526886

फाइल फोटो

  • युवक के पिता के बयान के आधार पर पुलिस ने दर्ज किया आत्महत्या के लिए उकसाने का केस
  • मूलरूप से हिमाचल के जाेगिंदरनगर का रहने वाला था सुनील कुमार

गांव खेड़ी सुंडरा में करवाचौथ से एक दिन पहले पिंजौर के 32 साल के युवक ने खुदकशी की थी। उसका शव मंगलवार सुबह कमरे में छत के पंखे से बंधे दुपट्‌टे के फंदे में लटका मिला। पुलिस ने उसकी पत्नी के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। करवाचौथ वाले दिन उसे डेराबस्सी कोर्ट में पेश किया जहां तीन बच्चों की मां का एक दिन का पुलिस रिमांड हासिल हुआ है।

जानकारी के मुताबिक सुनील कुमार जोगिंदरनगर हिमाचल का रहने वाला था। वह अपनी पत्नी के साथ खेड़ी सुंडरा में किराए के कमरे में रह रहा था जबकि उसकी दो बेटियां व बेटा अपने दादा दूलोराम के पास शिव काॅलोनी, पिंजौर में रह रहे थे। पुलिस के मुताबिक सुनील नजदीकी प्राइवेट फैक्टरी में काम करता था। हालांकि, खुदकशी सोम-मंगल की रात को की गई थी परंतु पुलिस को इसकी सूचना सुबह नौ बजे मिली।

कमरे में पहुंचे तो शव को उतारा जा चुका था। पत्नी प्रीति का कहना था कि वह सोई हुई थी उसे खुदकशी बारे पता ही नहीं लगा जबकि मृतक के पिता ने प्रीति को ही अपने बेटे की मौत का जिम्मेदार ठहराया है। पिता का आरोप है कि प्रीति के कारण परिवार में क्लेश रहता था और इसी कलह की वजह से तीनों बच्चों को उनके पास छोड़कर सुनील प्रीति के साथ अलग रहने लगा।

हालांकि मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला परंतु पिता के बयान पर पुलिस ने प्रीति के खिलाफ आईपीसी 306 के तहत केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। शव को पोस्टमार्टम के बाद उसके वारिसों के हवाले कर दिया गया।

[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें