[ad_1]

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • चंडीगढ़
  • पंजाब के दो राजाओं ने आईपीएल में अपना स्थान बनाया; किंग्स 11 पंजाब के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह और स्पिनर रवि बिश्नोई ने सभी को प्रभावित किया

चंडीगढ़24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
ravi 3 1 1604549046

रवि बिश्नोई।

  • यूएई में खेले जा रहे आईपीएल में दोनों ने अहम समय में साबित किया कि वो कितने काबिल हैं

इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) के पिछले 12 सीजन की तरह ही सीजन-13 ने भी कुछ ऐसे प्लेयर्स दिए जिन्होंने पूरी दुनिया को अपनी पहचान कराई। इसमें राहुल तेवतिया, टी.नटराजन, वरुण चक्रवर्ती जैसे अनुभवी प्लेयर्स तो हैं ही लेकिन पंजाब के दो युवा गेंदबाजों ने भी सभी को अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया। स्पिन गेंदबाजी में रवि बिश्नोई ने खुद को साबित किया जबकि तेज गेंदबाजी में अर्शदीप सिंह ने। यूएई में खेले जा रहे आईपीएल में दोनों ने अहम समय में साबित किया कि वे कितने काबिल हैं। उन्होंने टीम की जरूरत को भी पूरा किया और सफलता भी दिलाई। दोनों प्लेयर्स ने विदेशी प्लेयर्स के टक्कर का प्रदर्शन किया।

रवि बिश्नोई

लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के लिए अच्छा प्रदर्शन किया और वे वहां पर सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने। इसी के दम पर उन्होंने आईपीएल में डेब्यू किया। उन्होंने 14 मुकाबलों में 12 विकेट लेकर अपने चयन को सही भी साबित किया। उन्होंने साबित किया कि वे आने वाले स्टार हैं और किसी भी माहौल में खेल सकते हैं।बिश्नोई ने डेविड वॉर्नर, जॉनी बैयरेस्टो, रिषभ पंत, एरोन फिंच, इयोन मोर्गन जैसे दिग्गज बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। इन सभी को अच्छी स्पिन खेलने के लिए जाना जाता है, लेकिन वे रवि के आगे नहीं चल सके। पंजाब के चीफ कोच अनिल कुंबले की तरह उन्हें भी स्पेशल टैलेंट माना जाता है। उन्होंने कोच के साथ फ्लिपर्स, टॉप-स्पिन और गुगली से सभी को प्रभावित किया।

मैच-14

बॉल-306

रन-376

विकेट-12

बेस्ट-3/29

इकॉनमी-7.37

arshdeep 1 1604549223

अर्शदीप सिंह

किंग्स इलेवन पंजाब की दूसरी खोज तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह को माना जा रहा है। उन्होंने टीम के लिए आठ मैच खेले और नौ विकेट झटके। 6 फुट 3 इंच के लंबे गेंदबाज ने टीम के साथ अपना वादा निभाया और कई स्टार बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। उन्होंने रोहित शर्मा, मनीष पांडे और आंद्रे रसल जैसे दिग्गज बल्लेबाजों को चलने का मौका नहीं दिया।टीम में जब मोहम्मद शमी का साथ कोई नहीं दे पा रहा था तो अर्शदीप ने मोर्चा संभाला। 21 वर्षीय गेंदबाज ने शमी से काफी कुछ सीखा और क्रिस जॉर्डन ने भी उनकी काफी मदद की। उन्होंने अपनी उपस्थिति को महसूस कराया और दिखाया कि वे निश्चित तौर पर इंटरनेशनल लेवल पर अच्छा प्रदर्शन करने की वे प्रतिभा रखते हैं ।

मैच-08

बॉल-149

रन-218

विकेट-09

बेस्ट-3/23

इकॉनमी-8.77

[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें