[ad_1]

कैथल20 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जिला प्रशासन ने मास्क न पहनने वाले 21896 लोगों के चालान कर उनसे एक करोड़ 9 लाख 48 हजार रुपए की वसूली की है। डीसी ने कहा कि कोरोना की रफ्तार जरूर कम हुई है, लेकिन खत्म नहीं हुआ है। जब तक संक्रमण को रोकने में सफलता नहीं मिल जाती तब तक लापरवाही न बरतें। मास्क लगाकर ही घरों से बाहर निकलें और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें। बार-बार हाथों को सेनिटाइज करते रहें या साबुन से धोएं।

केंद्र व राज्य सरकार द्वारासमय-समय पर जारी होने वाली हिदायतों का पालन करें। सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य है, यदि कोई व्यक्ति इसकी उल्लंघना करता है तो जिला प्रशासन द्वारा नियुक्त टीम व पुलिस विभाग द्वारा चालान किए जा रहे हैं। डीसी ने कहा कि इस समय त्योहारों का सीजन चल रहा है और आमजन मार्केट में भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों से बचें तथा जरूरी सामान खरीदते समय मास्क का प्रयोग अवश्य करें।

दुकानदार बिना मास्क वाले व्यक्ति को सामान न दें और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें। ग्राहकों के मोबाइल में आरोग्य सेतू एप को डाउनलोड करवाएं ताकि उन्हें अलर्ट मैसेज मिलता रहे व कोविड-19 से संबंधित अन्य जानकारी भी मिलती रहे। जिन व्यक्तियों के पास एंड्राॅयड फोन नहीं है, वे 1921 पर मिस्ड कॉल कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट अनुसार 3 नवंबर तक जिला में कोरोना वायरस के दो हजार 995 पॉजिटिव केस पाए गए हैं, जिसमें से दो हजार 840 काेरोना मरीज ठीक हो चुके हैं। जिला में 661 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं, जिनमें से 568 कंटेनमेंट जोन को डिनोटिफाइड कर दिया गया है तथा अब 93 एक्टिव कंटेनमेंट जोन है। अब तक जिला में कुल 82 हजार 395 कोरोना के सैंपल लिए गए हैं।

[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें