[ad_1]

फरीदाबाद4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
nikita tomar16039473521603985101 1604058043

मृतका निकिता तोमर

  • तौसीफ और अजरू को भी 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है
  • रेहान उस कार में मौजूद था, जिसमें निकिता को ले जाने की कोशिश थी

फरीदाबाद के निकिता तोमर हत्याकांड मामले में आरोपी रेहान के रिमांड की अवधि शुक्रवार को खत्म हो गई। उसे अदालत में पेश किया गया है, जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इससे पहले वीरवार को तौसीफ और अजरू को भी न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।

बता दें कि तौसीफ पर निकिता को मारने के आरोप लगे हैं। रेहान, तौसीफ का दोस्त है और वह उस कार में मौजूद था, जिसमें तौसीफ, निकिता को जबरन बिठाने की कोशिश कर रहा था। वहीं अजरू पर तौसीफ को वह देसी पिस्तौल उपलब्ध कराने के आरेाप हैं, जिससे निकिता को गोली मारी गई। मामले की जांच एसआईटी कर रही है और केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी।

ये है मामला
फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ में गत सोमवार को पेपर देकर लौट रही बीकॉम तृतीय वर्ष की छात्रा 21 साल निकिता की गोली मारकर हत्या की गई थी। आरोप नूह से कांग्रेस विधायक आफताब अहमद के चचेरे भाई तौसिफ पर लगे हैं। तौसीफ निकिता से शादी करना चाहता था। इसलिए वह निकिता को जबरन अपने साथ ले जाना चाहता था। निकिता ने इंकार करते हुए विरोध किया तो तौसीफ ने उसे गोली मार दी। वारदात को अंजाम देने में तौसीफ की मदद रेहान और अजरुद्दीन ने की थी।

वहीं मामले को लगातार फास्ट ट्रैक में चलाए जाने की मांग हो रही थी, जिसे मानते हुए वीरवार को हरियाणा सरकार ने मंजूरी दे दी। दूसरी ओर निकिता के परिवार को 3 गनर भी दिए गए हैं। इनमें से एक-एक गनर 24 घंटे निकिता के पिता, मां और भाई के साथ मौजूद रहेगा। हालांकि, दो दिन पहले गृहमंत्री ने पर्सनल सिक्योरिटी से मना कर दिया था।



[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें