आज शिक्षामित्रों ने प्रियंका गांधी जी से मुलाकात की मुलाकात के समय राज बब्बर सहित कई बड़े नेता मौजूद रहे प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ की ओर से यह मांग की गई कि कांग्रेस पार्टी अपनी चुनावी मेनिफेस्टो में उनका मुद्दा रखे और वर्तमान परिस्थितियों पर चर्चा की गई है। शिक्षा मित्रों के साथ अन्याय हो रहा है 25 जुलाई 2017 को सुप्रीम कोर्ट से समायोजन निरस्त होने के बाद से शिक्षामित्र शोधार्थी है लेकिन सरकार शिक्षामित्रों से ना तो कोई वार्ता करने को तैयार है ना तो उनके लिए कोई भी स्थाई समाधान करने के लिए तैयार नहीं। तो कर रही है उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ के अध्यक्ष गाजी इमाम आला ने बताया की 25 जुलाई 2017 से हम लोग आंदोलन कर रहे हैं और माननीय नरेंद मोदी जी ने बनारस की रैली में यह वादा किया था कि शिक्षामित्रों की समस्या हमारी है और योगी जी ने जब सपा का शासन काल था इलहबाद हाई कोर्ट का फैसला आया था तब योगी जी ने गोरखपुर में शिक्षामित्रों के बीच में जाकर के वादा किया था कि अगर मेरी सरकार आएगी तो हम लोग उन्हें शिक्षक बनाएंगे समाधान निकालेंगे और 2017 के चुनाव में जब उत्तर प्रदेश में चुनाव से पहले भाजपा का संकल्प पत्र आया तब वहाँ भी शिक्षामित्रों को स्थाई समाधान का भरोसा दिलाया गया – आज तक जमीन पर कुछ भी कार्य नहीं हुआ और यहाँ तक जो भी संगठन शिक्षा म त्रों के प्रति संघर्ष करते हैं उनकी आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है सरकार की ओर से सरकार यह कहती है कि हमने  35 00 से  10000 किया लेकिन गाजी इमाम आला जी ने बताया कि असलियत तो यह है कि  40000 से गकर के और 10000 किया और उन्होंने बताया कि सुप्रीम कोर्ट में बहुत प्रयासों से अब पुनर्विचार किया जा रहा है लगा दी गई है और याचिका बहुत जल्द ही इस पर सुनवाई होने वाली है गाजी इमाम आला जी ने बताया कि शिक्षामित्रों के लिए अब बहुत जल्द सड़कों पर आंदोलन उतरने वाला है और उत्तर प्रदेश सरकार को चेतवन ते हुए कहा कि अगर मेरा मान-सम्मान हमारे शिक्षा मित्रों के साथअन्याय किया गया तब उत्तर प्रदेश सरकार शिक्षामित्रों को रोक नहीं पाएगी मजबूरन आंदोलन करना होगा और सड़कों पर हम लोग बहुत जल्द ही आएंगे प्रियंका गांधी जी ने भी आश्वासन दिया कि उनकी सरकार आने पर उनके लिए स्थाई समाधान किया जाएगा और जहां तक ​​हो सकता है। है। पर उन्हें शिक्षक के रूप में बहाल किया जाएगा कि क्या इसके लिए अध्यादेश ही क्यों ना लाया जाए और उन लोगों से मुख्य रूप से उत्तर  प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ के अध्यक्ष गाजी इमाम आला रमेश मिश्रा इंद्रजीत सिंह सुधाकर तिवारी उमाता आदि लोग मौजूद थे  ..