[ad_1]

पटना3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
orig igims patna 1604536040

ठंड की शुरुआत क्या हुई, ब्रेन हेमरेज के मरीज भी आने लगे। आईजीआईएमएस में बुधवार को ब्रेन हेमरेज के चार मरीज भर्ती हुए हैं। मंगलवार को तीन और सोमवार को चार मरीज भर्ती हुए थे। बीते तीन दिनों में ब्रेन हेमरेज के 11 मरीज भर्ती हुए हैं। संस्थान के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. मनीष मंडल ने बुधवार को इसकी पुष्टि की।

उन्होंने बताया कि इसमें अधिकतर बीपी और शुगर के मरीज हैं, जबकि एक मरीज को ब्रेन हेमरेज होने के बाद भर्ती हुआ है। उसका बीपी बढ़ा हुआ था। उसकी उम्र 45 से 60 के बीच है। इसमें कुछ मरीज बीपी की दवा छोड़ दिए थे या फिर बीपी के अनुसार दवा एडजस्ट नहीं करवाया था। ठंड में बीपी और शुगर के मरीज को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। बीपी और शुगर दोनों को नियंत्रित रखना जरूरी होता है। बीपी मरीज को नियमित जांच कराते रहना चाहिए। यदि बीपी बढ़ा हो तो चिकित्सक से दवा का डोज एडजस्ट करवा लेना चाहिए। बीपी के मरीज को दवा कतई नहीं छोड़नी चाहिए। बीपी या शुगर की दवा छोड़ने पर ही इस तरह की परेशानी होती है। वैसे भी ठंड में बीपी बढ़ जाता है, इसलिए ठंड से भी बचाव करना उतना ही जरूरी है।

ठंड से बचें, घर में ही करें योग-व्यायाम
सुबह में ठंड अधिक रहती है। यदि सुबह में वॉशरूम जाने के लिए उठते हैं तो ठीक-ठाक कपड़ा पहनकर या सिर ढक कर ही जाना चाहिए। इस मौसम में खानपान पर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत है। गरिष्ठ भोजन से परहेज करना चाहिए। ठंड अधिक हो तो घर में ही योग-व्यायाम करें या फिर धूप निकलने पर टहलने के लिए निकलें।

[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें