[ad_1]

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि देश की राजधानी में कोरोना के मामले बढ़े हैं और इसे ‘तीसरी लहर’ कहा जा सकता है. इससे पहले दिल्ली सरकार ने कहा था कि वो एक हफ्ते के बाद ही ये कह पाएगी कि दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर आ गई है या नहीं.

आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से लगातार पांच हज़ार से ज्यादा कोरोना वायरस के मामले रोज़ाना सामने आ रहे हैं. दिल्ली में कोरोना के तीसरी लहर को लेकर सीएम केजरीवाल का बयान बुधवार को आया. इससे पहले मंगलवार को दिल्ली में 6 हज़ार 725 नए कोरोना मामले सामने आए. हालांकि बुधवार को संक्रमण के 6 हज़ार 842 मामले आए, जो कि किसी एक दिन में दिल्ली में आए मामलों का रिकॉर्ड है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में पिछले कुछ दिनों में कोविड-19 के नए मामलों में बढ़ोती हुई है और इसे महामारी की ‘तीसरी लहर’ कहा जा सकता है. उन्होंने कहा कि लेकिन घबराने की जरुरत नहीं है और सरकार हालात पर लगातार नजर रखे हुए है. मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर में कोरोना मरीजों के लिए बिस्तरों की कमी नहीं है, हालांकि कुछ निजी अस्पतालों में वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बिस्तरों की कमी है, इसका निदान भी एक-दो दिन में कर लिया जायेगा.

दिल्ली सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए आज एक मीटिंग बुलाई है. माना जा रहा है कि इस मीटिंग में सरकार आईसीयू बेड और वेंटिलेटर की उपलब्धता पर चर्चा करेगी.

आपको बता दें कि पिछले 24 घंटे में 6 हज़ार 842 नए मामले आए हैं और 51 लोगों की मौत हुई है. इसी के साथ मृतकों की कुल संख्या 6 हज़ार 703 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, दिल्ली में अब तक 4 लाख 9 हज़ार 938 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं और इनमें से 3 लाख 65 हज़ार 866 लोग ठीक हो चुके हैं. इस समय 37 हज़ार 369 लोगों का इलाज दिल्ली में चल रहा है.

ये भी पढ़ें:

US Election Result: बाइडेन ने ओबामा को छोड़ा पीछे, अमेरिकी इतिहास में पहली बार मिले इतने वोट

जीत के करीब पहुंचे बाइडेन ने कहा, ‘विरोधियों को नहीं मानूंगा दुश्मन, सभी का राष्ट्रपति बनूंगा’



[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें