[ad_1]

पटना4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
orig pmch 1604535974

चुनाव बाद या फिर ठंड बढ़ने पर यदि कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी तो उससे निपटने के लिए चिकित्सीय व्यवस्था को पहले से पीएमसीएच में दुरुस्त किया जा रहा है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि ठंड के साथ मरीजों की संख्या बढ़ सकती है। इसलिए अभी आइसोलेशन वार्ड की सुविधा पूरी तरह खत्म नहीं की जाएगी। आइसोलेशन वार्ड में पहले 100 बेड की सुविधा थी।

होम आइसोलेशन में रहने का नियम बनने पर यहां मरीज भर्ती नहीं हो रहे थे, इसलिए बेडों की संख्या कम कर 50 कर दी गई है। पीएमसीएच के कोविड अस्पताल में फिलहाल 100 बेड की व्यवस्था है। उसे बढ़ाकर 150 बेड किया जा रहा है। इसके लिए कॉटेज वार्ड को 50 बेड का कोविड वार्ड बनाया जा रहा है। कॉटेज वार्ड में एक कमरे में दो बेड की व्यवस्था की जा रही है।

जिससे एक कमरे में दो मरीज रह सके। कॉटेज के कमरे बहुत बड़े हैं, इसलिए एक कमरे में दो बेड की व्यवस्था होगी। साथ ही वहां आॅक्सीजन सप्लाई और अन्य चिकित्सकीय सुविधाएं बहाल की जाएंगी। वहीं पोस्ट कोविड वार्ड की सुविधा भी बहाल कर दी गई है। जरूरत पड़ने या पोस्ट कोविड मरीजों की संख्या बढ़ने पर बेडों की संख्या बढ़ाई जाएगी। शुरू में अस्पताल में ट्रीटमेंट वार्ड की भी व्यवस्था थी, पर अब इसे खत्म कर दिया गया है।

पोस्ट कोविड वार्ड में भी बढ़ेंगे बेड
अधीक्षक डॉ. विमल कारक के मुताबिक कोरोना मरीजों के लिए 150 बेड की सुविधा 10 दिनों के अंदर बहाल कर दी जाएगी। पोस्ट कोविड वार्ड में फिलहाल छह बेड हैं। इसमें भी बेड़ों की संख्या बढ़ाई जाएगी। ठंड बढ़ने पर कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ सकती है। इसी आशंका के मद्देनजर यह तैयारी की जा रही है।

[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें