[ad_1]

पलवलएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
orig orighirasat1602378098 1604536775

फाइल फोटो

गोकशी के आरोप में पुलिस ने एक गाड़ी को पकड़ कर आरोपियों को जेल भेज दिया, लेकिन बाद में गाड़ी के दो मालिकों को 120बी में फंसाने की धमकी देकर उनसे तीन लाख रुपए की रिश्वत मांगी गई। पीड़ित ने इसकी शिकायत फरीदाबाद विजिलेंस से की। इसके बाद विजिलेंस ने बुधवार को मुंडकटी थाने के एएसआई व हवलदार को रंगे हाथ 80 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया।

ड्यूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार रोहताश के अनुसार मेवात निवासी मुन्नी ने विजिलेंस से शिकायत की थी कि मुंडकटी थाने की पुलिस ने एक गाड़ी को गोकशी के आरोप में पकड़ा था। उसके साथ पकड़े गए आरोपी जेल जा चुके हैं। अब एएसआई इकबाल व हवलदार धर्मेंद्र गाड़ी के दो मालिकों को इस केस में 120बी में फंसाने की धमकी दे रहे हैं। परिजन मुन्नी से मिले तो उन्होंने इकबाल से बात की। इस पर इकबाल ने तीन लाख रुपए मांगे।

इसके बाद इकबाल की बातों को मुन्नी ने रिकार्ड कर लिया। इसमें इकबाल गाड़ी मालिकों को केस में न फंसाने के नाम पर तीन लाख रुपए की मांग कर रहा है। मुन्नी ने दोनों पुलिस वालों से मिलकर बात की तो मामला तीन लाख से घटकर 80 हजार रुपए में तय हो गया। बुधवार को पीड़ितों को पैसे देने थे, लेकिन इससे पहले वे फरीदाबाद विजिलेंस के पास पहुंच गए।

विजिलेंस ने पीड़ित को पैसे देकर पुलिस को देने की बात कही। इस मामले में तहसीलदार रोहताश को ड्यूटी मजिस्ट्रेट बनाया गया। मेवात निवासी मुन्नी ने जैसे ही रिश्वत के 80 हजार रुपए उक्त पुलिस वालों को दिए, विजिलेंस ने दोनों को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें