भाजपा सरकार ने गन्ना के रेट में मामूली वृद्धि कर किसानों के साथ धोखा किया है: अभय सिंह चौटाला

इनेलो के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा गन्ने की फसल का रेट मात्र 14 रूपए प्रति क्विंटल बढ़ा कर 386 रूपए प्रति क्विंटल करने को नाकाफी बताते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने एक बार फिर से किसानों के साथ धोखा किया है। पिछले कई सालों से महंगाई लगातार बेतहाशा बढ़ती जा रही है जिसको ध्यान में रखकर गन्ने की फसल का रेट तय किया जाना चाहिए।

भाजपा गठबंधन सरकार किसानों को कमजोर करने में लगी है : अभय सिंह चौटाला

अभय चौटाला ने कहा कि भाजपा गठबंधन सरकार किसानों को कमजोर करने में लगी है और शूगर मिल मालिकों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि चीनी उद्योग ऊर्जा आधारित उद्योग है जिसमें गन्ने को कच्चा माल के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है और गन्ने की पिराई करने से चीनी के अलावा चार और बाय प्रोडक्ट निकलते हैं। पहला, बगास (खोई) निकलता है जो अगले साल चीनी उत्पादन में ही एक फ्यूल के तौर पर काम आता है। दूसरा, प्रेसमड निकलता है जिसमें सल्फर की मात्रा अधिक होने सेे सल्फर की खाद के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। तीसरा मोलासिस (सीरा) निकलता है जो इथनॉल और शराब बनाने के साथ-साथ और भी उद्योगों में इस्तेमाल होता है और चौथा चीनी बनाते समय जो ट्रबाइन चलती है, उससे जो बिजली पैदा होती है वो जरूरत से अधिक पैदा होती है जिसे बेच कर भी शूगर मिल मालिक मोटा मुनाफा कमाते हैं।

3.76 प्रतिशत की बढ़ोतरी ऊंट के मुंह में जीरे के समान: अभय सिंह चौटाला

उन्होंने कहा कि वहीं दूसरी तरफ गन्ना उत्पादक किसानों को गन्ना की फसल के उत्पादन में खाद, बीज, दवाइयां, डीजल और अन्य चीजों के दाम का जो खर्च आता है वो बहुत अधिक बढ़ गया है। आम उपभोक्ता को भी चीनी महंगी मिल रही है जिससे किसानों के साथ आम जनता को भी लूटा जा रहा है। इस साल सरकारी कर्मचारियों को महंगाई भत्ता 8 प्रतिशत के हिसाब से दिया गया है तो किसानों को गन्ने के रेट में 3.76 प्रतिशत की बढ़ोतरी ऊंट के मुंह में जीरे के समान है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि गन्ना उत्पादन की लागत बढ़ गई है तो गन्ना का रेट भी उसी अनुपात में बढ़ना चाहिए और किसानों को गन्ना का रेट 450 रूपए प्रति क्विंटल के हिसाब से देना चाहिए।

कांग्रेस ने अपने राज में 193 बढ़ाए थे: भूपेंद्र सिंह  हुड्डा

बीजेपी– जेजेपी सरकार ने प्रदेश में गन्ने के प्रति क्विटल भाव में मात्र 14 की वृद्धि करके किसानों के साथ मजाक किया है। यह कहना है पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा का। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि प्रदेश के गणना किस लंबे समय से गाने का भाव 450 रुपए प्रति क्विंटल करने की मांग कर रहे हैं। परंतु भाजपा की सरकार ने केवल ₹14 ही बधाई है जिससे गाने का रेट 386 रुपए प्रति क्विंटल ही हुआ है। हमारी सरकार आने पर हम गाने का भाव 450 रुपए प्रति क्विंटल करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने गन्ने के रेट में रिकॉर्ड तोड़ 193 रुपए की बढ़ोतरी की थी। परंतु भाजपा राज्य में केवल ₹76 ही बड़े हैं।

इधर किसानों ने फिर किया आंदोलन का ऐलान

भारतीय किसान यूनियन चढूनी गुट के यमुनानगर जिला अध्यक्ष संजू गूंदीयाना का कहना है कि हम ₹450 प्रति क्विंटल गन्ने के रेट की मांग कर रहे हैं। सरकार हमारे साथ हमेशा ही ऐसा करती है।   इस बार रेट और बढवाने के लिए किसान आंदोलन करेंगे। 8 नवंबर यानि कि आज सीएम मनोहर लाल खट्टर जगाधरी विधानसभा एरिया में आयेंगे। किसान मंडी गेट पर सीएम का पुतला जलाकर गन्ने का रेट कम बढ़ाने पर रोष प्रदर्शन करेंगे।

 

TheNationTimes

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *