[ad_1]

फरीदाबाद: हरियाणा के बल्लभगढ़ में सोमवार को दिनदहाड़े 21 साल की एक युवती की हत्या के मामले में गिरफ्तार दो आरोपियों की पुलिस रिमांड आज खत्म हो रही है. आरोपी तौसीफ और उसके साथी रेहान को कोर्ट के दो दिनों की पुलिस रिमांड पर भेजा था. दोनों को आज अदालत में पेश किया जाएगा. वहीं करणी सेना के अध्यक्ष सूरज पाल अम्मू आज सुबह 11 बजे मृतक निकिता के परिवार से मुलाकात करेंगे.

पुलिस ने कहा, घटना सोमवार शाम को शाम चार बजे तब हुई, जब पीड़िता निकिता तोमर परीक्षा के बाद अग्रवाल कॉलेज से वापस आ रही थी. दो लोगों ने पीड़िता का अपहरण करने की कोशिश की, जब उसने विरोध किया तो एक आरोपी ने रिवॉल्वर से उसपर फायरिंग कर दी. हालांकि पीड़िता के परिवार ने दावा किया है कि मुख्य आरोपी पीड़िता को पसंद करता था और वह उसका प्रपोजल बार-बार ठुकरा रही थी, जिससे गुस्से में आकर उसने पीड़िता की हत्या कर दी. एक अन्य आरोपी उसका सहयोगी था.

SIT ने शुरू की जांच
निकिता तोमर हत्याकांड की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) बुधवार सुबह पीड़िता के घर पहुंची और उसने मामले की जांच शुरू कर दी है. निकिता हत्याकांड को लेकर मंगलवार को वल्लभगढ़ में हुए प्रदर्शन के बाद हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर नीत सरकार ने मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित करने का आदेश दिया था.

इस बीच, केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर बुधवार को निकिता के परिजनों से मिलने सेक्टर-23 स्थित उनके घर पहुंचे. उन्होंने पत्रकारों से कहा, “फरीदाबाद की बेटी निकिता की दिनदहाड़े हुई हत्या के मामले में पीडि़त परिवार को पूरा न्याय मिलेगा.”

इसबीच, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने आरोपियों को जल्द से जल्द सजा दिलवाने की मांग को लेकर बुधवार को बल्लभगढ़ स्थित अग्रवाल कॉलेज के बाहर प्रदर्शन किया. वहीं, एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने जिला उपायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन किया.

दो साल पहले निकिता की हुई थी किडनैपिंग
ABP न्यूज के पास तौसीफ के खिलाफ साल 2018 की वो FIR है जो निकिता की किडनैपिंग को लेकर दर्ज की गई थी. ये FIR निकिता के पिता ने दर्ज करवाई थी. इसमें लिखा है कि “2 अगस्त 2018 को सुबह 9 बजे सुबह मेरी लड़की निकिता उम्र साढ़े 18 साल जो अग्रवाल कॉलेज बल्लभगढ़ पढ़ने गई थी जिसको समय करीब 4:00 बजे वापस आना था. मेरी बेटी निकिता का मेरी पत्नी के पास फोन आया था कि मम्मी मैं ऑटो में बैठने वाली हूं उसके बाद मेरे फोन पर अभिषेक नाम के लड़के का फोन आया कि मेरे पास निकिता का फोन आया है. उसने बताया कि मेरे को जबरदस्ती तौसीफ ले जा रहा है जो घबराई हुई थी उसने मेरे को कहा था कि मेरे घरवालों को बता देना उसके बाद मैंने मेरी लड़की का फोन नंबर मिलाया लेकिन स्विच ऑफ मिला मेरी लड़की निकिता को तौसीफ नाम के लड़के ने अपहरण किया है. उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाए. अब तक मैं अपने तौर पर तलाश करता रहा लेकिन मेरी बेटी निकिता का कोई सुराग नहीं लगा.”

ये भी पढ़ें-
बल्लभगढ़ केस: निकिता को तौसीफ ने क्यों मारी थी गोली? पूछताछ में हुआ ये खुलासा

Haryana में सरेआम लड़की को मारी लफंगों ने गोली…तौसीफ ने क्यों अपनी दोस्त निकिता को गोली मारी?



[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें