[ad_1]

नई दिल्ली: पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण से निपटने के लिये पूसा की बायो डिकम्पोज़र तकनीक का इस्तेमाल दिल्ली के हिरनकी गांव से शुरू किया गया. ये तकनीक कारगर होती भी नज़र आ रही है. 13 अक्टूबर को हिरनकी गांव के 3 एकड़ के खेत में .

[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें