गुजविप्रौवि हिसार व वोलकाईट विश्वविद्यालय, इथोपिया शोध व शिक्षण के क्षेत्र में मिलकर करेंगे कार्य

0
11
0 0
Read Time:3 Minute, 42 Second

गुजविप्रौवि हिसार व वोलकाईट विश्वविद्यालय, इथोपिया शोध व शिक्षण के क्षेत्र में मिलकर करेंगे कार्य

वोलकाईट विश्वविद्यालय, इथोपिया व गुजविप्रौवि ने किए एमओयू विस्तार पर हस्ताक्षर
गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार तथा वोलकाईट विश्वविद्यालय, इथोपिया के बीच शिक्षण व शोध में मिलकर कार्य करने का मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) अगले पांच साल के लिए बढ़ गया है। दोनों विश्वविद्यालय अब अगले पांच साल और इसी प्रकार मिलकर कार्य करते रहेंगे। इस सम्बंध में शुक्रवार को दोनों विश्वविद्यालयों के बीच चल रहे एमओयू को पांच साल और आगे बढ़ाने के लिए सहमति बनी है। गुजविप्रौवि हिसार के कुलपति प्रो. बलदेव राज काम्बोज सहित दोनों विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों ने सम्बंधित दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए।
कुलपति प्रो. बलदेव राज काम्बोज ने बताया कि इस प्रकार के एमओयू विश्वविद्यालय को अंतरराष्ट्रीय स्तर की पहचान देने के साथ-साथ शिक्षकों व शोधार्थियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षण व्यवस्थाओं से रूबरू होने का मौका भी देते हैं। दोनों विश्वविद्यालयों का पांच साल तक साथ-साथ काम करने का अनुभव शानदार रहा है। विश्वविद्यालयों ने शैक्षणिक तथा शोध गतिविधियों को आपस में साझा किया। संगोष्ठियां सेमीनार व प्रकाशनों में मिलकर कार्य करने के साथ-साथ एक दूसरे की विशेषज्ञता को भी साझा किया। दोनों विश्वविद्यालयों के संयुक्त रूप में कार्य करने के अत्यंत सृजनात्मक परिणाम हुए हैं। वोलकाईट विश्वविद्यालय, इथोपिया के छह शिक्षकों ने गुजविप्रौवि हिसार से पीएचडी की डिग्री हासिल की हैं। जबकि अन्य कई शिक्षक गुजविप्रौवि हिसार से पीएचडी कर रहे हैं। प्रो. बलदेव राज काम्बोज ने इस अवसर पर वोलकाईट विश्वविद्यालय, इथोपिया के प्रतिनिधिमंडल को शुभकामनाएं दी तथा उनके साथ दोनों विश्वविद्यालयों के आधारभूत ढांचे के बारे में चर्चा की। उन्होंने कहा कि विश्व तथा राष्ट्र की बेहतरी के लिए विश्व के विश्वविद्यालयों को आपस में मिलकर कार्य करना चाहिए।
एमओयू पर गुजविप्रौवि हिसार की तरफ से कुलसचिव प्रो. अवनीश वर्मा व डीन ऑफ इंटरनेशनल रिलेशंस प्रो. विनोद छोकर जबकि वोलकाईट विश्वविद्यालय, इथोपिया की ओर से विश्वविद्यालय के वाइस प्रेसिडेंट हेबटे डुला, डा. तिलाहन राबुमा तथा एबेबे नेगेसे बांटू ने हस्ताक्षर किए।

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here