[ad_1]

दिवाली का त्योहार दरवाजे पर दस्तक दे रहा है. ऐसे में हर कोई अपने घर को सजाने के लिए प्लानिंग कर रहा है. घर के दरों-दीवारों को भी रंगने की खास प्लानिंग की जा रही है. लेकिन कई बार रंगाई-पुताई की सही प्लैनिंग न होने की वजह से जो हम सोचते हैं वैसा रंग-रोगन नहीं हो पाता है. तो चलिए हम आपको बताने जा रहे हैं कि घर की वॉल्स के लिए कौन सा पेंट बेहतर हो सकता है.

बाजार में कई तरह के पेंट मौजूद हैं

चूना

घरों की दीवारों को पेंट करने का सबसे पुराना तरीका चूना है. इसमे पानी के साथ चूना मिलाया जाता है और दीवारों को रंग दिया जाता है. यह तरीका सबसे सस्ता भी है. अगर आप सस्ते में दीवारों को रंगना चाहते हैं तो ये ऑप्शन देख सकते हैं. चूने में अब अलग-अलग रंग मिक्स कर दीवारों पर मनपसंद कलर भी किया जा सकता है. लेकिन इसके साथ मुश्किल यह है कि यह छूने पर या रगड़ खाने के बाद कपड़ों या हाथों पर लगने लगता है. ऐसे में आप एडहेसिव का इस्तेमाल कर सकते हैं. हालांकि चूने से दीवारें रंगने पर ज्यादा चमक नहीं आती है और यह ज्यादा टिकाऊ भी नहीं होता है.

ऑयल पेंट

ऑयल पेंट थोड़ा गाढ़ा होता है. यह बाजार में कई रंगों में मिलता है. लेकिन इन रंगों को बनाने में कई ऐसी चीजें इस्तेमाल में लाई जाती हैं तो सेहत और पर्यावरण के लिए काफी हानिकारक भी होती है. जैसे कि इन रंगों को बनाने में अफीम या मूंगफली के तेल का इस्तेमाल किया जाता है. इस पेंट की खास बात यह है कि इसे लगाने से दीवारें चमक उठती हैं. इसके अलावा यह टिकाऊ भी होता है.

इमल्शन पेंट से सजाएं दीवारें

इमल्शन पेंट को प्लास्टि पेंट भी कहा जाता है. इसे पानी में मिक्स करके तैयार किया जाता है. यदि आप अपने घर की दीवारों को मैट फिनिश और रिच लुक देना चाहते हैं इससे बेहतर पेंट का ऑप्शन कोई नहीं है. इसकी खासियत यह है कि यह काफी टिकाऊ होता है और लंबे समय तक दीवारें खराब नहीं होती हैं.

सीमेंट पेंट

यह पेंट वॉटर बेस्ड होता है. इसका मुख्य हिस्सा सीमेंट ही होता है. इसी वजह से यह पेंट अन्य पेंटों की तुलना में ज्यादा टिकाऊ होता है. इस पेंट का इस्तेमाल ज्यादातर बाहरी दीवारों के लिए किया जाता है. लेकिन अब इसका इस्तेमाल लोग अंदरूनी दीवारों के लिए भी करने लगे हैं. इसकी खासियत यह है कि ये सीलन और धूल से बाहरी दीवारों को बचाता है. इसके अलावा कंक्रीट की दीवारों और फर्श को मजबूत बनाने के लिए भी सीमेंट पेंट काफी अच्छा ऑप्शन है.

ऐनामेल पेंट

एनामेल पेंट ऑयल बेस्ड पेंट है. इसके इस्तेमाल से दीवारों पर बेहतर चमक और फिनिशिंग आती है. इसमे वाइट लेड, जिंक, पेट्रोलियम और स्प्रिट मिले होते हैं. इसे काफी टिकाऊ भी माना जाता है. इसमे थिनर मिलाया जाता है इस वजह से यह पेंट सूखने में थोड़ा समय लेता है. इसकी खासियत यह है कि यह पेंट दीवारों से छूटता नही है और दीवारों पर दाग-धब्बे भी नजर नहीं आते है. इसका इस्तेमाल मेटल पर भी किया जा सकता है.

डिस्टेंपर पेंट

आम आदमी का पेंट डिस्टेंपर पेंट ही माना जाता है. यह वॉटर बेस्ड है और इसमे चॉक, चूना, पानी और रंग मिला होता है. यह बाजार में पाउडर और पेस्ट दोनो रूप में मिलता है. अन्य पेंट के मुकाबले यह काफी सस्ता होता है लेकिन वाइटवॉश से थोड़ा महंगा होता है. इसे घर के अंदर और बाहर दोनों जगह किया जा सकता है. इसकी खासियत यह है कि यह पेंट आम आदमी के बजट में होता है. साथ ही इस पेंट की चमक और लुक भी बेहतरीन होती है. इसे लगाने के बाद दीवारों पर दाग-धब्बे नजर नहीं आते हैं.

लेटेक्स पेंट

इसे इमल्शन पेंट का दूरा रूप कहा जाता है. इस पेंट को दीवारों पर या कंक्रीट व लकड़ी पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है. इसकी खासियत यह है कि यह पेंट दीवारों को चमकदार बनाने के साथ दरारों को भी भर देता है.

ये भी पढ़ें

ICMR का दावा- कोरोना से बचाव में भी कारगर साबित हो सकती है BCG वैक्सीन, बुजुर्गों के लिए भी है असरदारकाम की बात: आधार कार्ड के साथ कौनसा मोबाइल नंबर है लिंक, ऐसे लगाएं पता



[ad_2]

Source link

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें